17/06/2024 8:31 am

www.cnindia.in

Search
Close this search box.

become an author

17/06/2024 8:31 am

Search
Close this search box.

पूजा पद्धति कोई भी हो पर देश के प्रति भक्ति रखने वाले लोग चाहिए  डॉ.दिनेश संघ शिक्षा वर्ग प्रथम वर्ष का समापन कार्यक्रम हुआ आयोजित संघ शिक्षा वर्ग में एक लाख बीस हजार रोटियां प्राप्त की गई 6 हजार परिवार से

बाराबंकी। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अवध प्रान्त का संघ शिक्षा वर्ग प्रथम वर्ष (सामान्य) का समापन समारोह गुरूवार को सरस्वती विद्या मंदिर रामसनेहीघाट के प्रांगण में संपन्न हुआ। इस अवसर पर मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय समग्र ग्राम विकास संयोजक डा.दिनेश ने कहा कि आज पूरी दुनिया में भारत का अनुसरण कर रही है। आज पूरी दुनिया आयुर्वेद के महत्व को समझ रही है और योग दिवस मना रही है। दुनिया में भारत की कीमत बढ़ी है और भारत को देखने का नजरिया आज दुनिया में बदला है। उन्होंने कहा कि हमारी पूजा पद्धति कोई भी हो लेकिन देश के प्रति भक्ति रखने वाले लोग चाहिए। देशभक्त व संस्कार युक्त व्यक्ति निर्माण का काम संघ करता है। अभी हाल ही में बालासोर में रेल दुर्घटना के बाद शासन और प्रशासन से पहले संघ के स्वयंसेवक सेवा कार्य के लिए वहां पहुंचे। कार्यक्रम की अध्यक्षा करते बावन मंदिर अयोध्या के महंत वैदेही वल्लभ शरण महाराज ने देश भक्ति व परमात्मा की भक्ति संघ सिखाता है। संघ का प्रत्येक स्वयंसेवक किसी संत से कम नहीं है। मठ मंदिर व धर्म की सुरक्षा संघ के कारण हो रही है। उन्होंने कहा कि संघ के संस्थापक डॉ हेडगेवार व श्री गुरु जी परमात्मा के स्वरूप थे। संघ का  एक-एक स्वयंसेवक महात्मा है। क्योंकि जो देशभिक्त करे परमात्मा की भक्ति करे वही संत है।
डॉ दिनेश ने कहा कि पूज्य संतों के नेतृत्व में भारत की जो यात्रा चली है अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण उसका एकमात्र प्रतीक है। 1990 में राम मंदिर आंदोलन के दौरान पूरे देश के लोग अयोध्या आए। राम मंदिर के लिए समर्पण अभियान में देश के हर गांव से सहयोग मिला। डॉ दिनेश ने कहा कि एक भारत श्रेष्ठ भारत का निर्माण करना आज की महती आवश्यकता है। जब तक इस देश का एक भी गरीब भूखा रहेगा तब तक हमको चैन से नहीं बैठना है। इसलिए प्रत्येक शाखा को स्थानीय समस्याओं व चुनौतियों का अध्ययन करके काम करना होगा। वर्ग कार्यवाह अंबिका प्रसाद ने बताया कि वर्ग में अवध प्रान्त के 26 जिलों से 401 शिक्षार्थी स्वयंसेवक आये थे। उन्होंने बताया कि वर्ग में  6000 परिवारों से 1 लाख 20 हजार रोटी समाज के विभिन्न घरों से आयी। एक दिन करीब 350 परिवार अपने घर से पूरा भोजन बनाकर लाये और अपने हाथ से स्वयंसेवकों को भोजन कराया।अभार प्रदर्शन सह वर्ग कार्यवाह वेद प्रकाश ने किया। वर्ग के मुख्य शिक्षक ऊधम जायसवाल रहे।समापन समारोह में दण्ड युद्ध, निरूयुद्ध, योगासन, सामूहिक समता व खेल का प्रदर्शन स्वयंसेवकों ने किया। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अवध प्रान्त के प्रान्त प्रचारक कौशल , सह प्रांत प्रचारक संजय, प्रांत प्रचार प्रमुख डॉ अशोक दुबे, प्रान्त प्रचारक प्रमुख यशोदानन्द,  सामाजिक समरसता प्रान्त प्रमुख राजकिशोर, प्रांत संपर्क प्रमुख गंगा सिंह, प्रांत के धर्म जागरण प्रमुख सुरेंद्र, अयोध्या के विभाग संघचालक गंगावत्स , वरिष्ठ प्रचारक अशोक केडिया, राज्य मंत्री सतीश शर्मा, अयोध्या सांसद लल्लू सिंह, कामाख्या धाम के चेयरमैन शीतला शुक्ल, जिला कार्यवाह डा.वी.पी.सिंह प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

cnindia
Author: cnindia

Leave a Comment

विज्ञापन

जरूर पढ़े

नवीनतम

Content Table