19/06/2024 8:44 am

www.cnindia.in

Search
Close this search box.

become an author

19/06/2024 8:44 am

Search
Close this search box.

Category: भारत

भारत में 19वीं शती में जिन लोगों ने सामाजिक परिवर्त्तन में बड़ी भूमिका निभाई, उनमें श्री ईश्वरचन्द्र विद्यासागर का नाम बड़े आदर से लिया जाता है। उनका जन्म 26 सितम्बर, 1820 को ग्राम वीरसिंह (जिला मेदिनीपुर, बंगाल) में हुआ था। धार्मिक परिवार होने के कारण इन्हें अच्छे संस्कार मिले।

Read More »

देश की आजादी के लिए हजारों वीर पुरुषों, माताओं, बहिनों और नवयुवकों ने बलिदान दिया। इनमें से ही एक था 18 वर्षीय वीर बालक शान्तिप्रकाश, जिसने इस यज्ञ में 27 जुलाई, 1939 को प्राणाहुति दी। इसका जन्म ग्राम कलानौर अकबरी (जिला गुरदासपुर, पंजाब) में हुआ था।

Read More »

यह इतिहास की विडम्बना है कि अनेक क्रान्तिकारी स्वतन्त्रता के युद्ध में सर्वस्व अर्पण करने के बाद भी अज्ञात या अल्पज्ञात ही रहे। ऐसे ही एक क्रान्तिवीर बटुकेश्वर दत्त का जन्म 18 नवम्बर, 1910 को ग्राम ओएरी खंडा घोष (जिला बर्दमान, बंगाल) में श्री गोष्ठा बिहारी दत्त के घर में हुआ था। वे एक दवा कंपनी में काम करते थे, जो बाद में कानपुर (उ.प्र.) में रहने लगे। इसलिए बटुकेश्वर दत्त की प्रारम्भिक शिक्षा पी.पी.एन हाईस्कूल कानपुर में हुई। उन्होंने अपने मित्रों के साथ ‘कानपुर जिमनास्टिक क्लब’ की स्थापना भी की थी।

Read More »

आपकी राय

[democracy id="1"]

क्रिकेट लाइव

मौसम का हला